10 जनवरी को सिनेमाघरों में रिलीज हुई दीपिका पादुकोण की मोस्ट अवेटेड फिल्म 'छपाक'  मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने फिल्म के लिए लक्ष्मी अग्रवाल की वकील अपर्णा भट्ट को क्रेडिट देने का आदेश दिया है. दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा कि अपर्णा भट को क्रेडिट दिए बिना 15 जनवरी से मल्टीप्लेक्स और लाइव स्ट्रीमिंग आदि में फिल्म का प्रदर्शन नहीं होगा, जबकि अन्य के लिए ये रोक 17 जनवरी से होगी. इससे पहले पटियाला हाउस कोर्ट ने भी फिल्म के लिए लक्ष्मी की वकील अपर्णा भट्ट को क्रेडिट देने का आदेश दिया था, लेकिन फॉक्स स्टूडियो और मेघना गुजराल ने इस आदेश के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था.

शुक्रवार को सुनवाई के दौरान निर्माताओं ने हाईकोर्ट में कहा था कि भट्ट के पास फिल्म में श्रेय पाने का कोई भी कानूनी, वैधानिक या संविदात्मक अधिकार नहीं है. फॉक्स स्टार स्टूडियोस की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता राजीव नायर और मेघना गुलजार की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता संदीप सेठी कोर्ट में पेश हुए. वहीं, दूसरी ओर बॉक्स ऑफिस पर 'छपाक'की पहले दिन की कमाई लगभग 5 करोड़ हुई है, जबकि आजय देवगन की फिल्म 'तानाजी' इस रेस में आगे निकल गई है. लगभग 16 करोड़ का कलेक्श न फिल्म 'तानाजी' ने किया है. इसके बाद से ही दीपिका पादुकोण ने अपने पोस्ट प्रमोशन के कई कार्यक्रमों को रद्द कर दिया है.

'छपाक' की बात करें तो पूरी फिल्म में 'उन्होंने मेरी सूरत बदली है... मेरा मन नहीं' यही डायलॉग गूंजता रहता है. एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल पर बेस्ड ये फिल्म वाकई में रोंगटे खड़े कर देती है. फिल्म की डायरेक्टर मेघना गुलजार ने दर्शकों के सामने लक्ष्मी के रूप में दीपिका पादुकोण को पेश किया है. मेघना भली-भांति जानती हैं कि उन्हें दर्शकों को कैसे खुश करना है इसीलिए उन्होंने इस कहानी को नए ढंग से दिखाया है.